Loading...
You are here:  Home  >  India  >  Current Article

तो आप पद्मावती से आहत हैं?

By   /  January 25, 2018  /  No Comments

    Print       Email

क्या आप पद्मावती से आहत हैं?

क्या आपके टूथपेस्ट में नमक है?

अरे बुरा मत मानिये, वैसे भी बुरा मानना और आहत हो जाना आजकल हमारा राष्ट्रीय टाइम पास बन गया है। सो, पद्मावती (हम पद्मावत वद्मावत न बोलेंगे) देखी तो होगी नहीं आपने, देख लेते तो संजय लीला भंसाली का बॉर्डर स्टाइल निर्देशन थोड़े मरहम लगा देता आपके जख्मों पर। कोई बात नहीं, कल टीवी देखा?

सुना है कल गुरुग्राम के रणक्षेत्र में केसरिया बाना धारी राजपूती सेना स्कूल जाते बच्चों पे पिल पड़ी थी। देखा आपने कैसे दुबके पड़े थे वो बच्चे राजपूतों की ताकत के सामने? खुश तो बड़े हुए होंगे आप, कि चलो कोई तो है जो अभी भी डरता हैं हमसे।

आहत तो नहीं हुए न देख कर?

सुनिए, मैं भी एक राजपूत हूँ, और बड़ा आहत हूँ इस बात से कि मेरी जाती के नाम पे चंद लम्पटों ने हमारी आन – बान – शान का छीछा लेदर कर दिया। ये जो गुंडागर्दी हो रही है, भद्द पिट गयी राजपूताने की। क्यों कर रहे हैं ये सब ?

जग हसाई कराने में मान सिंह के सच्चे उत्तराधिकारी निकले आप लोग। आज तो दिग्विजय सिंह को भी सुपीरियर फील हो रहा होगा।

अच्छा बिहार के राजपूत हैं आप?

आरा जिला घर बा का?

ढेर चिंता बा तोहरा रानी पद्मिनी के इज़्ज़त के, आ जब अश्लील भोजपुरी फिल्म और संगीत के माध्यम से इ खेसारी, निरहुआ फलान ढेकान जब रोज रोज हमर मातृभाषा के इज्जत नीलाम करेला सन, जब हमार माँ, बहिन, बेटी के रोड पे, टेम्पू पे लाज से मुँह ढके पड़ेला, तब केने जाला तोहार स्वाभिमान?

अभी सरसती पूजा के दिन बी एन कॉलेज में आरकेस्ट्रा करके माँ सरसती के अपमान भईल ता आँख मूंदले रहा? आज नौटंकी बतियावेला आयिल बाड़ा?

शरम करा तनी!

थोड़ी शर्म कीजिये!

अपना कर्त्तव्य और धर्म याद कीजिये। आखिर आप राजपूत हैं।

    Print       Email

About the author

An IT Professional based in Pune, India. A Traveler, Photographer and Blogger. Self Proclaimed Middle of the Right.

You might also like...

lynching

A Nation Held Hostage By The Mobs

Read More →